Featured Post

सजनवा बैरी हो गए हमार...

सजनवा बैरी हो गए  फिल्म-तीसरी कसम  मूल गायक-मुकेश प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है. स्वर-अल्पना वर्मा  गीत के बोल-   सजनवा बैरी हो ग...

Dec 25, 2013

रूठे हो तुम तुमको कैसे मनाऊं ...

रूठे हो तुम ...
नय्यारा नूर 

पाकिस्तानी फिल्म-आईना
मूल गायिका-नय्यारा नूर
संगीत -रोबिन घोष

गीत -
रूठे ही तुम तुमको  कैसे मनाऊं पिया,
बोलो न बोलो न ,
खुश्बू बन के आऊं,साँसों में बस जाऊं ,
कैसे तुमको मनाऊं ....



Mp3 Download or preview

**************************************************
**********************************************
*******************************************
****************************************

Dec 23, 2013

हे रोम-रोम में बसने वाले राम


फिल्म  : नीलकमल  [1968]
गीतकार : साहिर लुधियानवी,
संगीतकार : रवि ,
मूल गायिका : आशा भोसले,

गीत-
हे रोम रोम में बसने वाले राम
जगत के स्वामी, हे अंतर्यामी, मैं तुझ से क्या माँगू

१-आस का बंधन तोड़ चूकी हूँ
तुझ पर सब कुछ छोड़ चूकी हूँ
नाथ मेरे मैं क्यो कुछ सोचूँ, तू जाने तेरा काम
जगत के स्वामी ....

२-तेरे चरण की धूल जो पाये
वो कंकर हीरा हो जाये
भाग मेरे जो मैने पाया, इन चरणों में धाम.
जगत के स्वामी ....

३-भेद तेरा कोई क्या पहचाने
जो तुझ सा हो, वो तुझे जाने
तेरे किये को हम क्या देवे, भले बुरे का नाम.

हे रोम रोम में बसने वाले राम ....

प्रस्तुति -कवर संस्करण -स्वर-  अल्पना
MP3 Song Preview Or  Download here



Dec 16, 2013

नज़र आती नहीं मंजिल और मेरे महबूब ...


चंद्रानी मुख़र्जी के बारे में पढ़ते हुए उनके गीतों को सुना ..कई साल बाद फिर से उनकी आवाज़  मे मधुर गीतों को सुनकर खुद भी गुनगुनाने का दिल हुआ और उनके गाये दो बहुत ही लोकप्रिय गीत मैं यहाँ पोस्ट कर रही हूँ ये दोनों बिना संगीत हैं..


केवल स्वर

१-मेरे महबूब शायद आज कुछ .....
फिल्म-कितनी दूर कितनी पास [१९७६]
गीत और संगीत -रविन्द्र जैन
Mp3 Play or Preview



२- नज़र आती नहीं मंजिल
फिल्म -कांच और हीरा [१९७२]
गीत और संगीत -रविन्द्र जैन

Mp3 Play or Preview

------------------------------------------

Nov 28, 2013

मुझे तुम मिल गए ...



फिल्म  : लव इन टोकियो (१९६६)
गीतकार : हसरत जयपुरी,
मूल गायिका: लता मंगेशकर,
संगीतकार : शंकर जयकिशन,

गीत-

मुझे तुम मिल गए हमदम सहारा हो तो ऐसा हो
जिधर देखूँ उधर तुम हो, नजारा हो तो ऐसा हो

१-किसी का चाँद सा चेहरा, नजर से चूम लेती हूँ
खुशी की इंतहा ये है, नशे में झूम लेती हूँ
हुई तकदीर भी रोशन सितारा हो तो ऐसा हो

२-मेरी आँखों में आंसू है, मगर आंसू खुशी के है
किसे छोडू, किसे पा लू, ये रिश्ते जिन्दगी के है
हमे तो नाज हैं तुम पर, हमारा हो तो ऐसा हो

३-उधर दिल है, इधर जान है, बड़ी मुश्किल का सामा है
लबों पर मुस्कराहट है, मगर साँसों में तूफ़ान है
ये मैं जानू, या तुम जानो, इशारा हो तो ऐसा हो

मुझे तुम मिल गए हमदम..................

Tried this song..........
Mp3 Download OR Preview

Nov 23, 2013

चाँद फिर निकला...



फिल्म- पेईंग गेस्ट
संगीत-सचिनदेव बर्मन
गीत-मजरूह सुल्तानपुरी
मूल गायिका -लता मंगेशकर
गीत के बोल-

चाँद  फिर निकला, मगर तुम न आये
जला फिर मेरा दिल, करुँ क्या मैं हाय
चांद फिर निकला ...

१-ये रात कहती है वो दिन गये तेरे
ये जानता है दिल के तुम नहीं मेरे
खड़ी मैं हूँ फिर भी निगाहें बिछाये
मैं क्या करूँ हाय के तुम याद आये
चाँद फिर निकला ...

२-सुलगते सीने से धुंआ सा उठता है
लो अब चले आओ के दम घुटता हैं
जला गये तन को बहारों के साये
मैं क्या करुँ हाय के तुम याद आये
चाँद फिर निकला ...
-------------------
कवर संस्करण -प्रस्तुति---अल्पना

Vocals-Alpana
Download or Preview MP3 ]


Nov 19, 2013

फिल्म ममता के दो गीत

1-रहें ना रहें हम

गीतकार : मज़रूह सुल्तानपुरी

संगीत -रोशन,  मूल गायिका -लता मंगेशकर


रहें ना रहें हम, महका करेंगे बन के कली,
बन के सबा, बाग़े वफा में ...


MP 3 Download or Play


2-रहते थे कभी जिनके दिल में
----------------------------
फिल्म-ममता
संगीत  -रोशन
गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी
अभिनत्री -सुचित्रा सेन

---------------------
Mp3 Download Or Play

Nov 15, 2013

ये समा, समा है ये ...


ये समा, समा है ये प्यार का
फिल्म - जब जब फूल खिले
मूल गायिका - लता मंगेशकर

कवर प्रस्तुति-अल्पना


ये समा, समा हैं ये प्यार का
किसी के इंतजार का
दिल ना चुरा ले कही मेरा, मौसम बहार का

बसने लगे आखों में कुछ ऐसे सपने
कोई बुलाए जैसे, नैनों से अपने
नैनों से अपने
ये समा, समा हैं दीदार का, किसी के इंतजार का
दिल ना चुरा ले कही मेरा, मौसम बहार का

मिल के ख़यालों में ही, अपने बलम से
नींद गवाई अपनी, मैने कसम से
मैने कसम से
ये समा, समा है  खुमार का, किसी के इंतजार का
दिल ना चुरा ले कही मेरा, मौसम बहार का
                  
Download or Play here 
कवर संस्करण - स्वर -अल्पना

Nov 6, 2013

देस रंगीला ..समूह गीत [फिल्म-फ़ना]


'देस रंगीला 'फिल्म फना का गीत है जो एकल गीत है स्कूल के वार्षिक समारोह हेतु ,इसे हमने समूह गीत के रूप में छात्राओं से तैयार करवाया था ...और इसके लिए उन्हें सिर्फ २ दिन का समय दिया गया था गौरतलब है ये सभी छात्राएँ अहिन्दी भाषी हैं और इनमें  से दो ही ऐसी छात्राएँ थीं जिन्होंने ये गीत पहले सीखा हुआ था.

Nov 2, 2013

स्वागत गीत -मन की वीणा से गुंजित

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ प्रस्तुत है एक स्वागत [समूह ]गीत,
 जिसे स्कूल के वार्षिक उत्सव के लिए हमने  छात्र-छात्राओं से तैयार करवाया
और बहुत ही कम समय के बावजूद भी उन्होंने  बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति दी --
'मन की वीणा से गुंजित ध्वनि मंगलम ,
स्वागतम,स्वागतम,स्वागतम,स्वागतम .'
[इस गीत के लिए भव्या को विशेष धन्यवाद जिसने इसे यू ट्यूब पर उपलब्ध किया है]
गीत के बोल-
Man ki veena se gunjit dhwani manglam ,मन की वीणा से गुंजित ध्वनि मंगलम Swagatam – Swagatam-Swagatam-Swagatam-स्वागतम ......४ Sa re ga , ma ga ma ga re  -Sa re ga , ma ga ma ga re Ni sa re, ga re ga re sa ,Ni sa re, ga re ga re sa
१.Kaisa paawan , suhaavan samay aaj hai ,कैसा पावन सुहावन समय आज है Aap aaye atithiyon ke sartaj hai ,आप आये अतिथियों के सरताज हैं Dev ki bhanti pujan Karen aaj hum ,देव की भांति पूजन करें आज हम Swagatam – Swagatam-Swagatam-Swagatam
2-Man ki bagiya se humne hai kaliyan chuni ,मन की बगिया से हमने हैं कलियाँ चुनी Shraddha ke phulon se humne mala buni ,श्रद्धा के फूलों से हमने माला बुनी Karte hain tumko arpit suman aaj hum ,करते हिं तुमको अर्पित सुमन आज हम Swagatam – Swagatam-Swagatam-Swagatam
Ta na na na na dheem dheem dere na  Ta na na na na dheem tare dere na  Ta na na na na dheem dheem dere na  Ta na na na na dheem tare dere na 
Dheem dheem tana  dere na  -Dheem dheem tana  dere na  -
Dheem dheem tana  dere na  -Dheem dheem tana  dere na   Ta na na na na dheem dheem dere na  Ta na na na na dheem tare dere na  Dhoom tana dhoom tana dhoom  dere na  - Dhoom tana dhoom tana dhoom  dere na Dhoom tana na tana na na ……..धूम ताना धूम ताना धूम ताना देरे न
[unknown lyricist]

Sep 22, 2013

अगर हम कहें और ....[ग़ज़ल]

अगर हम कहें और ..
Lyrics-
अगर हम कहें और वो मुस्कुरा दें
हम उनके लिए ज़िंदगानी लुटा दें

हर एक मोड़ पर हम ग़मों को सज़ा दें
चलो ज़िंदगी को मोहब्बत बना दें

अगर ख़ुद को भूले तो, कुछ भी न भूले
कि चाहत में उनकी, ख़ुदा को भुला दें

कभी ग़म की आँधी, जिन्हें छू न पाए
वफ़ाओं के हम, वो नशेमन बना दें

क़यामत के दीवाने कहते हैं हमसे
चलो  उनके चहरे से पर्दा हटा दें

सज़ा दें, सिला दें, बना दें, मिटा दें
मगर वो कोई फ़ैसला तो सुना दें

-------------------.
सुदर्शन फ़ाकिर की लिखी ग़ज़ल का संगीत जगजीत सिंह जी ने ही दिया है.

मूल ग़ज़ल को  जगजीत सिंह और चित्रा सिंह ने गाया है.
यहाँ प्रस्तुत संस्करण में राजा पाहवा और अल्पना के स्वर हैं.
दो साल से अधूरी पड़ी हुई इस ग़ज़ल को अभी हाल ही में पूरा किया गया है.
राजा पाहवा का बहुत शुक्रिया जिन्होने अपनी गले की बीमारी  के बावजूद इसे पूरा किया है.

Sep 3, 2013

जा री पवनिया पिया के देस जा


गीत-जा री पवनिया पिया के देस जा ...
फिल्म-दो बूँद पानी
 एक भूला  बिसरा सा गीत फिल्म दो बूँद पानी से है ,
इसके गीतकार कैफी आज़मी और संगीत जयदेव जी का है.
मूल गायिका आशा भोसले हैं और सिमी ग्रेवाल पर फिल्माया गया है.
प्रस्तुत गीत मेरे स्वर में है..


  Download Here


Vocals-Alpana
[Recorded in 2012]

Aug 29, 2013

अल्लाह तेरो नाम...


फिल्म -हम दोनों
संगीतकार -जयदेव ,
गीतकार -साहिर लुध्यानवी
मूल गायिका -लता मंगेशकर

गीत-

अल्लाह तेरो नाम, ईश्वर तेरो नाम
सबको सन्मति दे भगवान
अल्लाह तेरो नाम ...

1.माँगों का सिन्दूर ना छूटे
माँ बहनो की आस ना टूटे
देह बिना, दाता, देह बिना
भटके ना प्राण
सबको सन्मति दे भगवान
अल्लाह तेरो नाम, ईश्वर तेरो नाम...

2.ओ सारे जग के रखवाले
निर्बल को बल देने वाले
बलवानो को देदे ज्ञान
सबको सन्मति दे भगवान

अल्लाह तेरो नाम,ईश्वर तेरो नाम.

प्रस्तुत है यह भक्ति गीत मेरा एक प्रयास --

कवर संस्करण --स्वर-अल्पना


If this player is not seen or not working please listen here on link 1
or download here by right click &save as  ...
[recorded in dec,2012]

Aug 27, 2013

दुनिया करे सवाल तो..

Meena Kumari

फिल्म--बहू बेग़म
संगीत-रोशन
गीतकार-साहिर लुध्यानवी
मूल गायिका-लता मंगेशकर

गीत-
दुनिया करे सवाल तो हम क्या जवाब दें
तुमको न हो ख़याल तो हम क्या जवाब दें
दुनिया करे सवाल   ...

१-पूछे कोई कि दिल को कहाँ छोड़ आये हैं
किस-किस से अपना रिश्ता-ए-जाँ तोड़ आये हैं
मुशकिल हो अर्ज़-ए-हाल तो हम क्या जवाब दें
तुमको न हो ख़याल तो   ...

२-पूछे कोई कि दर्द-ए-वफ़ा  कौन दे गया
रातों को जागने की सज़ा कौन दे गया
कहने से हो मलाल तो हम क्या जवाब दें
तुमको न हो ख़याल तो   ...

दुनिया करे सवाल तो ...
Cover BY Alpana

To Play or Preview Mp3 Click HERE
File size-3 MB

Aug 26, 2013

जाएँ तो जाएँ कहाँ-


फिल्म-टैक्सी ड्राईवर [१९५४]
मूल गायक-तलत महमूद
संगीत-सचिन देव बर्मन
गीतकार-साहिर लुध्यानवी
Lyrics-
जाएँ तो जाएँ कहाँ

समझेगा कौन यहाँ दर्द भरे दिल की जुबाँ

जाएँ तो जाएँ कहाँ

1-मायूसियों का मजमा है जी में

क्या रह गया है इस ज़िन्दगी में

रुह में ग़म ,दिल में धुआँ...जाएँ तो जाएँ कहाँ

2-उनका भी ग़म है अपना भी ग़म है

अब दिल के बचने की उम्मीद कम है

एक किश्ती सौ तूफ़ाँ.....जाएँ तो जाएँ कहाँ

 ---स्वर --अल्पना


Preview or Play here MP3 file-3.0 MB-
[Old recording ]

Aug 20, 2013

क्योंकि तुम ही हो ...

Still from Ashiqui 2-Actors-Shraddha and Aditya Kapoor

नई फिल्म आशिकी २ का यह गाना फिल्म के लिए  अरिजीत सिंह ने गाया है.यह इस समय का बेहद लोकप्रिय गाना है,नए गीतों में शायद ही किसी अन्य गीत के इतने कवर हुए होंगे जितने इस गाने के हुए हैं.हर कोई जैसे इसे अपना स्वर देना चाहता है.

कहा तो यही जाता है कि ऐसे गीतों की उम्र कम होती है.सही भी है,ये देर तक याद नहीं रखे जा सकते हैं लेकिन फिर भी अरिजीत की गायकी और इस के गीतकार संगीतकार मिथुन का भी कमाल है कि यह गीत इतना लोकप्रिय है और  तीन महीनो बाद भी सुनने में उतना ही अपीलिंग  लगता है!

पुरुष स्वर के लिए बने  गीत को गाना आसान नहीं होता है ,उस पर जो बहुत लोकप्रिय हो उस गाने को छेड़ना भी नहीं चाहिए!......फिर भी  क्योंकि मुझे यह गाना बहुत पसंद है तो खुद गाने की एक कोशिश करना तो बनता  है!:)...
इसलिए मैं ने मूल गाने के  ट्रेक पर ही गाने का प्रयास किया है..[जैसा भी है...पोस्ट कर रही हूँ-सुनियेगा -
Audio File-size 3.8 Mb 
Mp3 --if you can not see player Then Click  Hereto Play the song.
Vocals-Alpana


गीत के बोल-
हम तेरे बिन अब रह नही सकते
तेरे बिना क्या वजूद मेरा

हम तेरे बिन अब रह नही सकते,तेरे बिना क्या वजूद मेरा,
तुझ से जुदा अगर हो जायेंगे,तो खुद से ही हो जायेंगे जुदा
क्योंकी तुम ही हो, अब तुम ही हो,ज़िंदगी, अब तुम ही हो
चैन भी, मेरा दर्द भी,मेरी आशिकी, अब तुम ही हो

1-तेरा मेरा रिश्ता हैं कैसा,एक पल दूर गवारा नही
तेरे लिये हर रोज़ हैं जीते,तुझको दिया मेरा वक़्त सभी
कोई लम्हा मेरा ना हो तेरे बिना
हर साँस पे नाम तेरा,क्योंकि  तुम ही हो

२-तेरे लिये ही जिया मैं,खुद को जो यूँ दे दिया हैं
तेरी वफ़ा ने मुझको संभाला,सारे ग़मों को दिल से निकाला
तेरे साथ मेरा हैं नसीब जुड़ा,तुझे पाके अधूरा ना रहा
क्योंकि  तुम ही हो.........

Aug 15, 2013

सुन रहा है न ....

सुन रहा है न ...................
फिल्म-आशिकी २
संगीत -अंकित तिवारी
मूल गायिका -श्रेया
गीतकार-संदीप नाथ


हाल ही की प्रेम प्रसंगों पर बनी नयी फिल्मों में ' आशिक़ी २'  अच्छी और' रान्झना  ' बहुत ही अच्छी लगीं थी. दोनों ही फिल्मों के संगीत भी बहुत मन मोहक थे. बहुत दिनों बाद कुछ अच्छे गाने सुनने को मिले।
आशिकी २ के गाने सुन रहा है और तुम ही हो.… बेहद लोकप्रिय है. नए गायकों को अच्छा मौका मिला और उन्होंने बहुत मेहनत से सभी गीत गाये. संगीत भी अच्छा है.
इस फिल्म का एक गाना बिना संगीत गाने का प्रयास किया है। तुम ही हो''' भी जल्दी ही सुनाउंगी। अब जैसा भी गा सकती हूँ। गा दिया है. 

Mp3- Click  here to play the song.
Cover-Sung by Alpana

Aug 14, 2013

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ ....




फिल्म-आहिस्ता -आहिस्ता
गीत-निदा फ़ाज़ली
संगीत -खय्याम
मूल गायिका आशा भोसले


गीत के बोल -

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता
कहीं ज़मीं तो कहीं आसमाँ नहीं मिलता

जिसे भी देखिये वो अपने आप में गुम है
ज़ुबाँ मिली है मगर हमज़ुबाँ नहीं मिलता

बुझा सका है भला कौन वक़्त के शोले
ये ऐसी आग है जिस में धुआँ नहीं मिलता

तेरे जहान में ऐसा नहीं कि प्यार न हो
जहाँ उम्मीद हो इस की वहाँ नहीं मिलता

कभी किसी को मुकम्मल....

कवर गीत - स्वर--अल्पना


Mp3 download or Play here

Aug 13, 2013

हवा धीरे आना...


'नन्ही कली सोने चली,हवा धीरे आना '
फिल्म-सुजाता
मूल गायिका-गीता दत्त
गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी
संगीतकार-सचिन देव बर्मन

गीत
-----
नन्ही कली सोने चली हवा धीरे आना
नींद भरे पंख लिए झूला झूला जाना
नन्ही कली सोने चली

1-चांद किरन सी गुड़िया नाज़ों की है पली
आज अगर चांदनिया आना मेरी गली
गुन गुन गुन गीत कोई हौले हौले गाना

नींद भरे पंख लिए झूला झूला जाना..

2-रेशम की डोर अगर पैरों को उलझाए
घुंघरू का दाना कोई शोर मचा जाए

रानी मेरे जागे तो फिर निंदिया तू बहलाना

नींद भरे पंख लिए झूला झूला जाना

नन्ही कली सोने चली हवा धीरे आना...
...........................................................

Presenting Cover version of this lori.
Vocals-Alpana
Play or download Mp3
प्रस्तुत संस्करण  के लिए ट्रेक मुज्जफर नकवी साहब ने की बोर्ड पर तैयार किया है.

Aug 11, 2013

ना तुम बेवफा हो, ना हम ...



 न तुम बेवफा हो,न हम बेवफा हैं
फिल्म--एक कली मुस्काई
 संगीत --मदन मोहन
 गीतकार  --राजेंद्र कृष्ण
मूल गायिका -लता मंगेशकर
प्रस्तुत गीत में स्वर -अल्पना

गीत के बोल --
ना तुम बेवफा हो, ना हम बेवफा हैं
मगर क्या करें, अपनी राहें जुदा हैं

1-जहाँ ठण्डी-ठण्डी हवा चल रही है
किसी की मोहब्बत वहां जल रही है
ज़मीं आसमां हमसे दोनों खफा हैं
---
2-अभी कल तलक तो मोहब्बत जवां थी
मिलन ही मिलन था, जुदाई कहाँ थी
मगर आज दोनों ही बे-आसरा हैं
---
3-ज़माना कहे मेरी राहों में आ जा
मोहब्बत कहे मेरी बाहों में आ जा
वो समझे ना मजबूरियाँ अपनी क्या हैं.
ना तुम----

 .....कवर संस्करण
 

Download Or preview Mp3 Here

Aug 8, 2013

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी...

फिल्म-मासूम,
गीत--गुलज़ार,
संगीत-राहुल देव बर्मन
मूल गायिका  -लता ..
अभिनेत्री -शबाना आज़मी

गीत के बोल-:

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी हैरान हूं मैं
हैरान हूं मैं
तेरे मासूम सवालों से परेशान हूं मैं
परेशान हूं मैं

१-जीने के लिए सोचा ही नहीं दर्द संभालने होंगे
मुस्कुराएं तो मुस्कुराने के कर्ज़ उतारने होंगे
मुस्कुराऊं कभी तो लगता है, जैसे होंठों पर कर्ज़ रखा है

२-आज अगर भर आई हैं बूंदें बरस जाएंगीं
कल क्या पता किनके लिए आंखें तरस जाएंगी
जाने कब गुम हुआ कहां खोया एक आंसू छुपा के रखा था।
तुझसे नाराज़ नहीं ज़िंदगी...

प्रस्तुत है कवर संस्करण --स्वर- -अल्पना
[recorded dec,2011]
Download Mp3 or click here to  Play

Aug 6, 2013

धीरे -धीरे मचल ऐ दिले बेक़रार

धीरे -धीरे मचल ऐ  दिले बेक़रार 

फिल्म-अनुपमा
मूल गायिका-लता मंगेशकर
संगीत-हेमंत कुमार
गीत-कैफी आज़मी

यह गीत न जाने क्यूँ लोरी जैसा मीठा सुनायी देता है।
बहुत दिनों बाद नयी  प्रस्तुति है परन्तु इस  में  कोई साज़ नहीं बस आवाज़ है।

गीत के बोल-
धीर -धीरे मचल ऐ दिल बेकरार कोई आता  है,
यूँ तड़प के न तदपा मुझे बार-बार कोई आता है ,
धीरे धीरे मचल ऐ दिल -ऐ  -बेकरार। ......

१-उसके दमन की खुश्बू हवाओं में है ,
उसके क़दमों की आहट फ़ज़ाओं  में है ,
मुझको करने दे करने दे सोलाह  सिंगार कोई आता है…

२-मुझको छूने लगीं उसकी परछाईयाँ ,
दिल के नज़दीक बजती हैं शहनाईयाँ ,
मेरे सपनो के आँगन में गाता है प्यार कोई आता है…।

धीरे धीरे मचल ऐ दिल -ऐ  -बेकरार।

स्वर- अल्पना
Download or Play here 

---------------

Aug 5, 2013

ले तो आये हो हमें ..


फिल्म-  दुल्हन वही जो  पिया मन भाये.
गीत और संगीत -  रवीन्द्र जैन
Song-

ले तो आये हो हमें सपनो के गांव में,
प्यार की छाँव में बिठाए रखना ,
सजना ओ सजना
1-तुमने छुआ तो तार बज उठे मन के
तुम जैसा चाहो रहें वैसे ही बन के
तुम से शुरू, तुम्ही पे कहानी ख़तम करें
दूजा न आए कोई नैनों के गाँव में..
ले तो आए हो ...

2-छोटा सा घर हो अपना, प्यारा सा जग हो
कोई किसी से पल भर न अलग हो
इसके सिवा अब दूजी कोई चाह नही
हँसते रहें हम दोनों फूलों के गाँव में
ले तो आए हो हमें ....
..........................................
अभिनेत्री रामेश्वरी पर फिल्माए इस खूबसूरत गीत को गायिका हेमलता ने अपना स्वर दिया.
एक बहुत ही मधुर गीत जिसका कवर संस्करण प्रस्तुत है.

स्वर- अल्पना
click here to Mp3 Download or Play


Song-Le to aaye ho hamen'-original singer is Hemlata.Presenting Cover version.
Song suggested by Prakash G.

Jul 31, 2013

स्वरांजलि ..'अपनी आँखों में बसा कर..'


आज हरदिल पसंद  रूहानी आवाज़ के मालिक गायक रफ़ी साहब की ३३ वीं  पुण्यतिथि  है .
उन्हें याद करते हुए मैं अपनी ओर  से यह स्वरांजलि भेंट करती हूँ.रफ़ी साहब की  आवाज़ उनके गीतों के ज़रिये आज भी हमारे आस-पास उनकी मौजूदगी बताती है .
उनका गाया हुआ यह गीत मुझे बहुत पसंद हैं,रफ़ी साहब के बेहतरीन प्रेम-गीतों में से एक लगता है.
जितनी बार भी सुनो हमेशा नया सा लगता है ...


Download Or Play Mp3 Here
-कवर संस्करण - स्वर -अल्पना

गीत-अपनी आँखों में बसा कर
फ़िल्म-ठोकर
मूल गायक -रफ़ी
संगीतकार--श्याम जी घनश्याम जी
गीतकार -साजन देहलवी


अपनी आँखों में बसा कर कोई इक़रार करूँ
जी में आता है कि जी भर के तुझे प्यार करूँ
अपनी आँखों में बसाकर कोई इक़रार करूँ

१-मैं ने कब तुझ से ज़माने की ख़ुशी माँगी है
एक हलकी सी मेरे लब ने हँसी माँगी है
सामने तुझ को बिठाकर तेरा दीदार करूँ
जी में आता है कि जी भर के तुझे प्यार करूँ
अपनी आँखों में बसाकर कोई इक़रार करूँ

२-साथ छूटे न कभी तेरा यह क़सम ले लूँ
हर ख़ुशी देके तुझे तेरे सनम ग़म ले लूँ
हाय, मैं किस तरह से प्यार का इज़हार करूँ
जी में आता है कि जी भर के तुझे प्यार करूँ
अपनी आँखों में बसा कर कोई इक़रार करूँ.
film Thokar (1974) original singer- Rafi
Music: Shamji Ghanshamji
Lyrics: Sajan Delvi
Raga: Bhairavi
................................
-------------------------------------

Jul 24, 2013

कोई जब तुम्हारा हृदय...



कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे, तड़पता हुआ जब कोई छोड़ दे
तब तुम मेरे पास आना प्रिये, मेरा दर खुला है खुला ही रहेगा
तुम्हारे लिये, कोई जब ...

१-अभी तुमको मेरी ज़रूरत नहीं, बहुत चाहने वाले मिल जाएंगे
अभी रूप का एक सागर हो तुम, कंवल जितने चाहोगी खिल जाएंगे
दर्पण तुम्हें जब डराने लगे, जवानी भी दामन छुड़ाने लगे
तब तुम मेरे पास आना प्रिये, मेरा सर झुका है झुका ही रहेगा
तुम्हारे लिये, कोई जब ...

२-कोई शर्त होती नहीं प्यार में, मगर प्यार शर्तों पे तुमने किया
नज़र में सितारे जो चमके ज़रा, बुझाने लगीं आरती का दिया
जब अपनी नज़र में ही गिरने लगो, अंधेरों में अपने ही घिरने लगो
तब तुम मेरे पास आना प्रिये, ये दीपक जला है जला ही रहेगा
तुम्हारे लिये, कोई जब ...

गीतकार इन्दीवर के लिखे इस गीत को गायक मुकेश ने फिल्म  पूरब और पश्चिम के लिए गाया है.
इस गीत को अपना स्वर देने का मेरा एक प्रयास  सुनिये....

Mp3 Play or Download here

Jul 22, 2013

बेताब दिल की...


बेताब दिल की तमन्ना यही है ...
गीत फिल्म-हँसते जख्म से है,
 जिसे लिखा है--शकील बदायूंनी और धुन संगीतकार मदन मोहन जी की बनाई हुई है।
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है ।

स्वर-अल्पना
Mp3 Download Or play here

गीत के बोल-
 बेताब दिल की तमन्ना यही है
 तुम्हे चाहेंगे तुम्हे पूजेंगे तुम्हे अपना खुदा बनाएँगे...
 १-सूने सूने ख़्वाबों में, जब तक तुम ना आये थे
 खुशियाँ थी सब औरों की,
ग़म भी सारे पराये थे अपने से भी छुपाई थी ,
धडकन अपने सीने की
हमको जीना पड़ता था, ख्वाहिश कब थी जीने की
अब जो आ के तुमने, हमें जीना सिखा दिया है
चलो दुनिया नयी बसायेंगे

२-भीगी-भीगी पलकों पर ,सपने कितने सजाये थे
दिल में जितना अँधेरा था, उतने उजाले आये हैं
 तुम भी हमको जगाना ना ,बाहों में जो सो जाएँ
जैसे खुशबू फूलों में, तुम में यूँ ही खो जाएँ
पल भर किसी जनम में ,कभी छूटे ना साथ अपना
तुम्हे ऐसे गले लगाएंगे

३- वादे भी हैं कसमे भी, बीता वक्त इशारों का
 कैसे कैसे अरमा हैं, मेला जैसे बहारों का
 सारा गुलशन दे डाला, कलियाँ और खिलाओ ना
हँसते - हँसते रो दें हम, इतना भी तो हँसाओ ना,
 दिल में तुम्ही बसे हो, रहा आँचल वो भर चुका है

 कहाँ इतनी खुशी छुपाएंगे, बेताब दिल की तमन्ना यही है....
-----------------------

रातों के साये घने ..Cover version

जया भादुड़ी -फिल्म -अन्नदाता 
फिल्म-अन्नदाता
गीतकार-योगेश
संगीतकार -सलील चौधरी ,मूल गायिका -लता मंगेशकर

रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने
 न तो जले बाती न हो कोई साथी,
 फिर भी न डर अगर बुझे दिए
 सहर तो है तेरे लिये....

१-जब भी मुझे कभी कोई जो ग़म घेरे,
लगता है होंगे नहीं सपने यह पूरे मेरे ,
कहता है दिल मुझको माना हैं ग़म तुझको,
फिर भी न डर अगर बुझे दिए ,
सहर तो है तेरे लिये...

२-जब न चमन खिले मेरा बहारों में
जब डूबने मैं लगूँ रातों की मझधारों में
मायूस मन डोले पर यह गगन बोले
फिर भी न डर अगर बुझे दिए
सहर तो है तेरे लिये.....

३-जब ज़िन्दगी किसी तरह बहलती नहीं
खामोशियों से भरी जब रात ढलती नहीं
तब मुस्कुराऊँ मैं यह गीत गाऊँ मैं
फिर भी न डर अगर बुझे दिए
सहर तो है तेरे लिये....

रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने
न तो जलें बाती न हो कोई साथी \- २
फिर भी न डर अगर बुझे दिए
सहर तो है तेरे लिये....

एक प्रेरक गीत .
यह गीत मुझे बेहद पसंद है.गीत के बोल बहुत ही खूबसूरत हैं और संगीतकार सलील दा ने इसकी धुन भी लाजवाब बनाई है.इसकी  संगीत रचना कठिन है .

Cover version -Sung by Alpana -Download Mp3 Or Play here

Jul 14, 2013

दो नैना और एक कहानी


फिल्म-मासूम
गीतकार-गुलज़ार
संगीत-राहुल देव बर्मन ,मूल गायिका -आरती मुख़र्जी

दो नैना और एक कहानी
थोड़ा सा बादल,थोड़ा सा पानी
और  एक कहानी

छोटी सी दो झीलों में,वो बहती रहती है
कोई सुने या ना सुने कहती रहती है
कुछ  लिख के ओर कुछ ज़ुबानी

थोड़ी सी है जानी हुई थोड़ी सी नयी
जहाँ  रुके आँसू वहीँ  पूरी हो गयी
है तो नयी फिर भी हैं पुरानी

एक ख़त्म हो तो दूसरी याद आ जाती है
होठों  पे फिर भूली हुई बात आ जाती है
दो नैनों की है ये कहानी...
-----------------------
प्रस्तुत गीत में स्वर---अल्पना

Download or Play Mp3 Here

Jul 11, 2013

ज़िंदगी के सफ़र में गुज़र ...

फिल्म-आप की कसम
गीतकार-आनंद बक्षी 
संगीतकार-राहुल देव बर्मन 
मूल गायक -किशोर कुमार 

प्रस्तुत गीत में स्वर -अल्पना

गीत के बोल -

ज़िंदगी के सफ़र में गुज़र जाते हैं जो मकाम
वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते।

1-फूल खिलते हैं,लोग मिलते हैं 
मगर पतझड़ में जो फूल मुरझा जाते हैं
वो बहारों के आने से खिलते नहीं
कुछ लोग जो सफ़र में बिछड़ जाते हैं
वो हज़ारों के आने से मिलते नहीं
उम्र भर चाहे कोई पुकारा करे उनका नाम
वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते।

2-आँख धोखा है,क्या भरोसा है 
सुनो दोस्तों शक़ दोस्ती का दुश्मन है
अपने दिल में इसे घर बनाने न दो
कल तड़पना पड़े याद में जिनकी
रोक लो रूठ कर उनको जाने न दो
बाद में प्यार के चाहे भेजो हज़ारों सलाम
वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते।

3-सुबह आती है,शाम जाती है 
यूँही वक़्त चलता ही रहता है रुकता नहीं
एक पल में ये आगे निकल जाता है
आदमी ठीक से देख पाता नहीं
और परदे पे मंज़र बदल जाता है
एक बार चले जाते हैं जो दिन-रात सुबह-ओ-शाम
वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते।

Mp3 download or Play here
............
Vocals-Alpana


एक फिल्म जो देर तक दिमाग पर छाप छोड़े रहती है।
===========================

दुनिया बनाने वाले क्या तेरे मन में ...




कवि शैलेन्द्र की फिल्म'तीसरी कसम' को सिनेमा नहीं सेलुलोइड पर लिखी कविता कहा गया है।
यह एक ऐसी फिल्म है जिसका प्रभाव देर तक दिमाग पर रहता है।
इस फिल्म के सभी गाने बहुत अच्छे हैं।
राजकपूर यानी हीरामन का सादगी भरा चरित्र या हीराबाई की खामोश उदासियाँ।
.................
गीतकार-शैलेन्द्र
संगीत--शंकर - जयकिशन

गीत-
दुनिया बनाने वाले, क्या तेरे मन में समाई
काहे को दुनिया बनाई, तूने काहे को दुनिया बनाई

१-काहे बनाए तूने माटी के पुतले,
धरती ये प्यारी प्यारी मुखड़े ये उजले
काहे बनाया तूने दुनिया का खेला
जिसमें लगाया जवानी का मेला
गुप--चुप तमाशा देखे, वाह रे तेरी खुदाई
काहेको दुनिया बनाई, तूने काहेको दुनिया बनाई ...

२-तू भी तो तड़पा होगा मन को बनाकर,
तूफ़ां ये प्यार का मन में छुपाकर
कोई छवि तो होगी आँखों में तेरी
आँसू भी छलके होंगे पलकों से तेरी
बोल क्या सूझी तुझको, काहेको प्रीत जगाई
काहे को दुनिया बनाई, तूने काहेको दुनिया बनाई ...

३-प्रीत बनाके तूने जीना सिखाया,
हंसना सिखाया,रोना सिखाया
जीवन के पथ पर मीत मिलाए
मीत मिला के तूने सपने जगाए
सपने जगा के तूने, काहे को दे दी जुदाई
काहेको दुनिया बनाई, तूने काहेको दुनिया बनाई

इस गीत को फिल्म में राजकपूर और वहीदा रहमान पर फिल्माया गया था।
इसके मूल गायक मुकेश जी हैं।
मुझे पसंद है इसलिए अपने स्वर में प्रस्तुत कर रही हूँ।

Mp3 download or Play here

=====================

Jul 9, 2013

सजनवा बैरी हो गए हमार...

सजनवा बैरी हो गए


 फिल्म-तीसरी कसम
 मूल गायक-मुकेश
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.

स्वर-अल्पना वर्मा

 गीत के बोल- 
 सजनवा बैरी हो गएहमार
 चिठिया हो तो हर कोई बांचे
 भाग न बांचे कोई करमवा बैरी हो गए
 हमार सजनवा बैरी हो गए हमार

 १-जाये बसे परदेस सजनवा सौतन के भरमाये
ना सन्देश ना कोई खबरिया
रुत आये रुत जाए ना कोई इस पार हमारा
ना कोई उस पार सजनवा बैरी हो गए हमार

 २-सूनी सेज गोद मोरी सूनी  मरम ना जाने कोए
 छटपट तड़पे प्रीत विचारी  ममता आँसू  रोये
डूब गए हम बीच भंवर  में करके सोलह पार

करमवा बैरी हो गए हमार
 -------------------

  Mp3 Download or play 
Vocals-Alpana

Jul 5, 2013

रिमझिम गिरे सावन-स्वर-अल्पना


फिल्म-मंजिल
संगीत- राहुल देव  बर्मन
गीत-योगेश
मूल गायक-किशोर कुमार

कवर संस्करण  प्रस्तुति --अल्पना
चूँकि यह ट्रेक किशोर कुमार  जी के गाये गीत  का है तो  बोल
भी वही गाये हैं.

रिमझिम गिरे सावन,सुलग सुलग जाए मन
भीगे आज इस मौसम में,लगी कैसी यह अगन
रिमझिम गिरे सावन

१-जब घुंघरूओं  सी बजती हैं बूँदें
अरमा हमारे पलकें ना मूंदें
कैसे देखें सपने नयन
........................
रिमझिम गिरे सावन

२-महफ़िल में कैसे कह दें किसीसे
दिल बंध रहा है किसी अजनबी से

हाए करें अब क्या जतन

रिमझिम गिरे सावन,सुलग सुलग जाए मॅन
भीगे आज इस मौसम में,लगी कैसी यह अगन
रिमझिम गिरे सावन

Cover version Sung by Alpana 

---------
player

Jun 21, 2013

देख लो आवाज़ देकर ....cover song

Anuradha Paudwal

देख लो आवाज़ देकर 


मूल गायिका-अनुराधा पौडवाल
संगीत-जगजीत सिंह
गीतकार-इन्दीवर
फिल्म - प्रेम गीत
देख लो आवाज़ देकर पास अपने पाओगे
आओगे तन्हा मगर तन्हा नहीं तुम जाओगे

दूर रहकर भी तुम्हीं पे रहती है अपनी नजर
बाहों में हम थाम लेंगे जब भी ठोकर खाओगे, देख लो ...

लेना बदले में तुम्हारे गर खुदाई भी मिले
छोड़ देंगे दो जहाँ को जब भी तुम फ़रमाओगे देख लो ...

बेवफ़ाई भी करो तो माफ़ कर देंगे तुम्हें
हम ना वादों से फिरेंगे तुम अगर फिर जाओगे, देख लो ...

प्रस्तुत गीत में स्वर--Alpana


Download

Jun 20, 2013

जाने कहाँ गए वो दिन ..

जाने कहाँ गए वो दिन ...

जाने कहाँ गए वो दिन,
 कहते थे तेरी राह मेंनज़रों को हम बिछाएंगे
चाहे कहीं भी तुम रहो,
 चाहेंगे तुमको उम्र भरतुमको ना भूल पाएंगे
जाने कहाँ गए वो दिन ...
 मेरे कदम जहाँ पड़े,
 सजदे किये थे यार ने
मुझको रुला रुला दिया,
 जाती हुई बहार ने जाने कहाँ गए वो दिन ...
 अपनी नज़र में आज कल,
 दिन भी अंधेरी रात है साया ही अपने साथ था,
 साया ही अपने साथ है...जाने कहाँ गए वो दिन ...

 हसरत जयपुरी का लिखा
 शंकर जयकिशन का संगीतबद्ध किया
फिल्म मेरा नाम जोकर से मुकेश जी का अमर गीत ...
वायलिन की धुन के साथ मेरी एक कोशिश
 
download mp3 here
Vocals--Alpana ...Violin Tune by Mr Javed

May 11, 2013

रस्मे उलफत को निभाएँ...

रस्मे उलफत को निभाएँ तो निभाएँ कैसे..
.Film-Dil ki raahen[1973]
एक बेहद खूबसूरत ग़ज़ल ...
मजरूह सुलतानपुरी साहब की लिखी और मदन मोहन जी का संगीत,लता जी की कशिश भरी आवाज़...जितनी बार भी सुनो ...हर बार नई सी लगती है...
इस यादगार ग़ज़ल को अपने स्वर में प्रस्तुत कर रही हूँ,आशा है पसंद आएगी।[a request song..]

May 1, 2013

ओ हंसिनी ....स्वर - अल्पना



फिल्म-ज़हरीला इंसान
गीतकार -
संगीत- राहुलदेव बर्मन
ओ हंसिनी मेरी हंसिनी, कहा उड़ चली,
मेरे अरमानो के पंख लगा के कहा उड़ चली..

1-आ जा मेरी सांसो मे महक रहा रे तेरा गजरा,
 आ जा मेरी रातो मे लहेक रहा रे तेरा कजरा..
ओ हंसिनी ....

2-देर से लहरो मे कमल संभाले हुए मन का,
जीवन ताल मे भटक रहा रे तेरा हंसा..
ओ हंसिनी .............

किशोर कुमार का गाया हुआ यह गीत मेरे स्वर में सुनिए-



Mp3 Download or Play Here

Apr 16, 2013

ये दिल और उनकी ..स्वर-अल्पना


फिल्म-प्रेम पर्वत
संगीत -जयदेव
गीतकार-जांनिसार अख्तर
मूल गायिका -लता मंगेशकर

गीत के बोल-
ये दिल और उनकी, निगाहों के साये -
मुझे घेर लेते, हैं बाहों के साये -

पहाड़ों को चंचल, किरन चूमती है -
हवा हर नदी का बदन चूमती है
यहाँ से वहाँ तक, हैं चाहों के साये
ये दिल और उनकी निगाहों के साये ...

लिपटते ये पेड़ों से, बादल घनेरे -
ये पल पल उजाले, ये पल पल अंधेरे
बहुत ठंडे -ठंडे, हैं राहों के साये -
ये दिल और उनकी निगाहों के साये ...

धड़कते हैं दिल कितनी, आज़ादियों से -
बहुत मिलते जुलते, हैं इन वादियों से
मुहब्बत की रंगीं पनाहों के साये -

ये दिल और उनकी निगाहों के साये ...
---------------------------------


Mp3 download or play

Apr 12, 2013

जब भी जी चाहे नई दुनिया..स्वर -अल्पना


फिल्म-दाग़
संगीतकार -लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार-साहिर लुध्यानवी.
मूल गायिका-लता मंगेशकर
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है -स्वर-अल्पना

जब भी जी चाहे नई दुनिया बसा लेते हैं लोग
एक चेहरे पे कई चेहरे लगा लेते हैं लोग.

याद रहता है किसे गुज़रे ज़माने का चलन,
सर्द पड़ जाती है चाहत, हार जाती है लगन,
अब मोहब्बत भी है क्या इक तिजारत के सिवा,
हम ही नादां थे जो ओढ़ा बीती यादों का क़फ़न,
वरना जीने के लिए सब कुछ भुला लेते  हैं लोग.

जाने वो क्या लोग थे जिनको वफ़ा का पास था,
दूसरे के दिल पे क्या गुज़रेगी ये एहसास था,
अब हैं पत्थर के सनम जिनको एहसास ना गम ,
वो ज़माना अब कहाँ जो अहल-ए-दिल को रास था,
अब तो मतलब के लिए नाम-ए-वफ़ा लेते हैं लोग..

जब भी जी चाहे नई दुनिया बसा लेते हैं लोग...
...Difficult song....tried my best..
Mp3 Download or Play


Cover song.....sung by Alpana

Apr 10, 2013

जीना यहाँ, मरना यहाँ.....स्वर-अल्पना



फिल्म : मेरा नाम जोकर (1970)
संगीतकार : शंकर-जयकिशन
गीतकार-शैलेन्द्र इस अधूरे [गीत को पूरा किया था शैली शैलेन्द्र ने,जो उन्हीं के बेटे थे. ]

मूल गायक मुकेश जी के गाये इस गीत को मैं ने स्वर दिए हैं .
सुनिए....


गीत के बोल-
जीना यहाँ, मरना यहाँ,इसके सिवा जाना कहाँ
जी चाहे जब, हमको आवाज़ दो
हम हैं वहीं, हम थे जहाँ,अपने यहीं, दोनों जहाँ
इसके सिवा जाना कहाँ....

१-ये मेरा गीत जीवन संगीत,जग को हँसाने बहरूपिया
रूप बदल फिर आएगा,स्वर्ग यहीं,, नर्क यहाँ
इसके सिवा जाना कहाँ

२-कल खेल में, हम हों न हों,गर्दिश में तारे रहेंगे सदा
भूलोगे तुम, भूलेंगे वो,पर हम तुम्हारे रहेंगे सदा
रहेंगे यहीं, अपने निशां
इसके सिवा जाना कहाँ

Cover song Sung by Alpana
Mp3 Play or download here


Apr 7, 2013

रुला के गया सपना मेरा



फिल्म--ज्वैल थीफ़

संगीत सचिन देव बर्मन ,

गीत-शैलेंद्र

Lyrics-
रुला के गया सपना मेरा
बैठी हूँ कब हो सवेरा
रुला के गया .........
1-वही है गम-ए-दिल वही है चन्दा तारे
वही हम बेसहारे आधी रात वही है
और हर बात वही है ,फिर भी ना आया लुटेरा
रुला के गया .....

2-कैसी ये ज़िंदगी कि साँसों से हम ऊबे
कि दिल डूबा हम डूबे  इक दुखिया बिचारी
इस जीवन से हारी उस पर ये गम का अँधेरा
रुला के गया ........

रुला के गया सपना मेरा
बैठी हूँ कब हो सवेरा
रुला के गया सपना मेरा

Cover song by Alpana
स्वर- अल्पना

/
Mp3 Download Or Play Here
[Recorded again in April,2013]

Apr 6, 2013

आप यूँ फासलों से ...

Actress-Madhu Priya

फिल्म-शंकर- हुसैन
गीतकार-जान निसार अख्तर
संगीत- खय्याम
मूल गायिका -लता
अभिनेत्री -मधुप्रिया

गीत-
आप यूँ फासलों से गुज़रते रहे
दिल से कदमों  की आवाज़ आती रही
आहटों से अंधेरे चमकते रहे
रात आती रही ,रात जाती रही

१-गुनगुनाती रही मेरी तन्हाईयाँ
दूर बजती रही कितनी शहनाईयाँ
जिन्दगी, जिन्दगी को बुलाती रही
आप यूँ फासलों से ..

२-क़तरा -क़तरा  पिघलता रहा आसमाँ
रूह की वादियों में ना जाने कहाँ
इक नदी, इक नदी दिलरूबा गीत गाती रही
आप यूँ फासलों से ....

३-आप की गरम बाहों में खो जायेंगे
आप की नरम ज़ानो पे सो जायेंगे,
मुद्दतों रात नींदें चुराती रही
आप यूँ फासलों से .......
----------------------------
Cover Version Sung by Alpana

Apr 4, 2013

मौसम है आशिक़ाना....


Meena Kumari

फिल्म- पाकीज़ा ,गीत--कमाल अमरोही
संगीत-गुलाम मोहम्मद
मूल गायिका -लता
यहाँ कवर संस्करण प्रस्तुत है.

मौसम है आशिक़ाना
ऐ दिल कहीं से उनको ऐसे में ढूँढ लाना
ऐसे में ढूँढ लाना
मौसम है आशिक़ाना ......

1-कहना के रुत जवां है, और हम तरस रहे हैं
काली घटा के साए, बिरहन को डस रहे हैं
डर है न मार डाले सावन का क्या ठिकाना
मौसम है आशिक़ाना

2-सूरज कहीं भी जाए तुम पर न धूप आए
तुमको पुकारते हैं, इन गेसुओं के साए
आ जाओ मैं बना दूँ पलकों का शामियाना
मौसम है आशिक़ाना

3-फिरते हैं हम अकेले, बाँहों में कोई ले ले
आख़िर कोई कहाँ तक, तनहाइयों से खेले
दिन हो गए हैं ज़ालिम रातें हैं क़ातिलाना
मौसम है आशिक़ाना

4-ये रात ये ख़मोशी ये ख़ाब से नज़ारे
ये ख़ाब से नज़ारे
जुग्नू हैं या ज़मीं पर, उतरे हुए हैं तारे
बेख़ाब मेरी आँखें मदहोश  है ज़माना
मदहोश है ज़माना
मौसम है आशिक़ाना
ऐ दिल कहीं से उनको ऐसे में ढूँढ लाना
मौसम है आशिक़ाना
-------------------------------------------------------

कई गीत उधार हैं,उन में से एक यह भी है .


Download or Play here
Vocals-Alpana

Apr 2, 2013

जब भी ये दिल उदास होता है..

सिमी ग्रेवाल


फिल्म-सीमा (१९७१)
गीतकार-गुलज़ार ,
संगीत -शंकर -जयकिशन
मूल गायक -रफ़ी

Lyrics-
जब भी ये दिल उदास होता है
जाने कौन आस पास होता है
जब भी ये...

१-होंठ चुप चाप बोलते हों  जब
साँसें  कुछ तेज़ तेज़ चलती हों
आँखें जब दे रही हों आवाज़ें
ठंडी आहों में साँस जलती हो
जब भी ये...

२-आँखों में तैरती है तस्वीरें
तेरा चेहरा तेरा खयाल लिये
आइना देखता है जब मुझको
एक मासूम सा सवाल लिये
जब भी ये...

३-कोई वादा नहीं किया लेकिन
क्यूँ तेरा इंतज़ार रहता है
बेवजह जब करार मिल जाए
दिल बड़ा बेकरार रहता है
जब भी ये..
.
गीत कठिन है लेकिन मैंने गाने  एक कोशिश की है...
कवर संस्करण-प्रस्तुति -अल्पना
Mp3 Download Or Play

Mar 30, 2013

परदेसियों से न...



फिल्म- जब -जब फूल खिले
गीतकार -आनंद बक्षी
संगीतकार-कल्याण जी -आनंद जी

परदेसियों से ना अखियाँ  मिलाना
परदेसियों को है इक दिन जाना

1-ये बाबुल का देस छुड़ाएं
देस से ये परदेस बुलाएं
हाय सुनें ना ये कोई बहाना

2-हमने यही एक बार किया था
एक परदेसी से प्यार किया था
ऐसे जलाए दिल जैसे परवाना

परदेसियों से ना...................


इस गीत के  फिल्म में  दो वर्शन हैं.
यहाँ प्रस्तुत गीत का  ट्रैक रफी साहब के गाये गीत का है.बोल लता जी के गीत के हैं.
Cover song-Vocals-Alpana




Mp3 Download or Play

Mar 26, 2013

बड़ा नटखट है रे ....


फिल्म: अमर प्रेम
गायक: लता मंगेशकर
गीत: आनंद बक्षी
संगीत: आर. डी. बर्मन

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे

1-ढूँढे  री अंखिया उसे चारो और, जाने कहा छुप गया नंदकिशोर
उड़ गया ऐसे जैसे पुरवय्या, का करे यशोदा मैय्या
बड़ा नटखट है रे ....
2- आ तोहे मैं गले से लगा लूँ
लागे  ना किसी की नजर मन में छुपा लूँ
धूप जगत है ,रे ममता है छैंया, का करे यशोदा मैय्या
....
३- मेरे जीवन का तो  एक ही सपना
जो कोई देखे तोहे समझे वो अपना
सब का है प्यारा, हो सब का है प्यारा बंसी बज्जया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे ....


Cover by Alpana

Play or download Mp3

Mar 23, 2013

अजीब दास्ताँ है ये ...

Meena Kumari 


फिल्म-  दिल  अपना और प्रीत पराई
गीतकार- शैलेन्द्र
संगीतकार-शंकर-जयकिशन
मूल गायिका-लता मंगेशकर

प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.

lyrics-
अजीब दास्ताँ है ये, कहाँ शुरू कहाँ खतम
ये मंजिलें हैं कौन सी, न तुम समझ सके न हम

ये रोशनी के साथ क्यों, धुआँ उठा चिराग से
ये ख्वाब देखती हूँ मैं कि जग पड़ी हूँ ख्वाब से
अजीब दास्ताँ है...

मुबारकें तुम्हें कि तुम किसी के नूर हो गए
किसी के इतने पास हो कि सबसे दूर हो गए
अजीब दास्ताँ है...

किसी का प्यार लेके तुम नया जहाँ बसाओगे
ये शाम जब भी आएगी, तुम हमको याद आओगे
अजीब दास्ताँ है...
.......................

स्वर - अल्पना


Mp3 Download or Play

Mar 22, 2013

दिल में किसी के प्यार का ...

Actress-Leena Chndravarkar

फिल्म-एक महल हो सपनों  का
गीतकार-साहिर
संगीतकार-रवि
मूल गायिका-लता
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.
Lyrics-
दिल में किसी के प्यार का जलता हुआ दिया
दुनिया की आँधियों से भला ये बुझेगा क्या

1-साँसों की आँच पाके भड़कता रहेगा ये
सीने में दिल के साथ धड़कता रहेगा ये
धड़कता रहेगा ये
वो नक़्श क्या हुआ जो मिटाये से मिट गया
वो दर्द क्या हुआ जो दबाये से दब गया
दिल में किसी के प्यार का ...

2-ये ज़िंदगी भी क्या है अमानत उन्हीं की है
ये शायरी भी क्या है इनायत उन्हीं की है
इनायत उन्हीं की है
अब वो करम करें कि सितम उन का फ़ैसला
हम ने तो दिल में प्यार का शोला जला लिया
दिल में किसी के प्यार का ...

स्वर-अल्पना
Mp3 Download or Play Here



Song suggested by Mr.Prakash Govind,Hope I could do justice with the song! If you have any suggestion please let me know.Thnx for Visiting my space.

Mar 21, 2013

जा रे कारे बदरा ...फिल्म-धरती कहे पुकारे के.

Nanda

संगीतकार -लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी
फिल्म-धरती कहे पुकार के [१९६९]
मूल गायिका-लता मंगेशकर

प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.

Lyrics-
जा रे कारे बदरा बलम के द्वार..
वो हैं ऐसे बुद्धू न समझे रे प्यार

1-किन की पलक से पलक मोरी उलझी
निपट अनाड़ी से लट मोरी उलझी
के लट उलझा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ...
जा रे कारे ..

2-अंग उन्ही की लहरिया समायी
कबहूँ न पूछे लूँ काहे अंगडाई
के सौ-सौ बल खा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ..

3-थाम लो बैयाँ चुनर समझावे
गरबा लगा लो कजर समझावे
के सब समझा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ....
जा रे कारे बदरा बलमा के द्वार
वो हैं ऐसे बुद्धू न समझे रे प्यार

Cover song -स्वर----अल्पना
Mp3 download or play