Featured Post

Brishti Brishti Brishti [Bengali] Cover-बृष्टि -बृष्टि ..

Aparna Sen Brishti Brishti Brishti Aye kono porob srishti Film-Shonar Kancha Original Singer-Lata Picturised on Aparna Sen and Utta...

Mar 30, 2013

परदेसियों से न...



फिल्म- जब -जब फूल खिले
गीतकार -आनंद बक्षी
संगीतकार-कल्याण जी -आनंद जी

परदेसियों से ना अखियाँ  मिलाना
परदेसियों को है इक दिन जाना

1-ये बाबुल का देस छुड़ाएं
देस से ये परदेस बुलाएं
हाय सुनें ना ये कोई बहाना

2-हमने यही एक बार किया था
एक परदेसी से प्यार किया था
ऐसे जलाए दिल जैसे परवाना

परदेसियों से ना...................


इस गीत के  फिल्म में  दो वर्शन हैं.
यहाँ प्रस्तुत गीत का  ट्रैक रफी साहब के गाये गीत का है.बोल लता जी के गीत के हैं.
Cover song-Vocals-Alpana




Mp3 Download or Play

Mar 26, 2013

बड़ा नटखट है रे ....


फिल्म: अमर प्रेम
गायक: लता मंगेशकर
गीत: आनंद बक्षी
संगीत: आर. डी. बर्मन

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे

1-ढूँढे  री अंखिया उसे चारो और, जाने कहा छुप गया नंदकिशोर
उड़ गया ऐसे जैसे पुरवय्या, का करे यशोदा मैय्या
बड़ा नटखट है रे ....
2- आ तोहे मैं गले से लगा लूँ
लागे  ना किसी की नजर मन में छुपा लूँ
धूप जगत है ,रे ममता है छैंया, का करे यशोदा मैय्या
....
३- मेरे जीवन का तो  एक ही सपना
जो कोई देखे तोहे समझे वो अपना
सब का है प्यारा, हो सब का है प्यारा बंसी बज्जया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे ....


Cover by Alpana

Play or download Mp3

Mar 23, 2013

अजीब दास्ताँ है ये ...

Meena Kumari 


फिल्म-  दिल  अपना और प्रीत पराई
गीतकार- शैलेन्द्र
संगीतकार-शंकर-जयकिशन
मूल गायिका-लता मंगेशकर

प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.

lyrics-
अजीब दास्ताँ है ये, कहाँ शुरू कहाँ खतम
ये मंजिलें हैं कौन सी, न तुम समझ सके न हम

ये रोशनी के साथ क्यों, धुआँ उठा चिराग से
ये ख्वाब देखती हूँ मैं कि जग पड़ी हूँ ख्वाब से
अजीब दास्ताँ है...

मुबारकें तुम्हें कि तुम किसी के नूर हो गए
किसी के इतने पास हो कि सबसे दूर हो गए
अजीब दास्ताँ है...

किसी का प्यार लेके तुम नया जहाँ बसाओगे
ये शाम जब भी आएगी, तुम हमको याद आओगे
अजीब दास्ताँ है...
.......................

स्वर - अल्पना


Mp3 Download or Play

Mar 22, 2013

दिल में किसी के प्यार का ...

Actress-Leena Chndravarkar

फिल्म-एक महल हो सपनों  का
गीतकार-साहिर
संगीतकार-रवि
मूल गायिका-लता
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.
Lyrics-
दिल में किसी के प्यार का जलता हुआ दिया
दुनिया की आँधियों से भला ये बुझेगा क्या

1-साँसों की आँच पाके भड़कता रहेगा ये
सीने में दिल के साथ धड़कता रहेगा ये
धड़कता रहेगा ये
वो नक़्श क्या हुआ जो मिटाये से मिट गया
वो दर्द क्या हुआ जो दबाये से दब गया
दिल में किसी के प्यार का ...

2-ये ज़िंदगी भी क्या है अमानत उन्हीं की है
ये शायरी भी क्या है इनायत उन्हीं की है
इनायत उन्हीं की है
अब वो करम करें कि सितम उन का फ़ैसला
हम ने तो दिल में प्यार का शोला जला लिया
दिल में किसी के प्यार का ...

स्वर-अल्पना
Mp3 Download or Play Here



Song suggested by Mr.Prakash Govind,Hope I could do justice with the song! If you have any suggestion please let me know.Thnx for Visiting my space.

Mar 21, 2013

जा रे कारे बदरा ...फिल्म-धरती कहे पुकारे के.

Nanda

संगीतकार -लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी
फिल्म-धरती कहे पुकार के [१९६९]
मूल गायिका-लता मंगेशकर

प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.

Lyrics-
जा रे कारे बदरा बलम के द्वार..
वो हैं ऐसे बुद्धू न समझे रे प्यार

1-किन की पलक से पलक मोरी उलझी
निपट अनाड़ी से लट मोरी उलझी
के लट उलझा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ...
जा रे कारे ..

2-अंग उन्ही की लहरिया समायी
कबहूँ न पूछे लूँ काहे अंगडाई
के सौ-सौ बल खा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ..

3-थाम लो बैयाँ चुनर समझावे
गरबा लगा लो कजर समझावे
के सब समझा के मैं तो गई हार
वो हैं ऐसे ....
जा रे कारे बदरा बलमा के द्वार
वो हैं ऐसे बुद्धू न समझे रे प्यार

Cover song -स्वर----अल्पना
Mp3 download or play

Mar 19, 2013

जाएँ तो जाएँ कहाँ


फिल्म-टैक्सी ड्राईवर [१९५४]
मूल गायक-तलत महमूद
संगीत-सचिन देव बर्मन
गीतकार-साहिर लुध्यानवी
Lyrics-
जाएँ तो जाएँ कहाँ

समझेगा कौन यहाँ दर्द भरे दिल की जुबाँ

जाएँ तो जाएँ कहाँ

1-मायूसियों का मजमा है जी में

क्या रह गया है इस ज़िन्दगी में

रुह में ग़म ,दिल में धुआँ...जाएँ तो जाएँ कहाँ

2-उनका भी ग़म है अपना भी ग़म है

अब दिल के बचने की उम्मीद कम है

एक किश्ती सौ तूफ़ाँ.....जाएँ तो जाएँ कहाँ

 प्रस्तुत गीत--स्वर -अल्पना

Mar 4, 2013

तेरे बिना ज़िंदगी से...


तेरे बिना ज़िंदगी से कोई शिकवा ..

फिल्म--आँधी
संगीतकार--राहुल देव बर्मन
गीत -गुलज़ार
प्रस्तुत गीत कवर संस्करण है.


स्वर-अल्पना एवं प्रकाश गोविन्द
Mp3 Play or download

Song-Lyrics-

तेरे बिना ज़िंदगी से कोई, शिकवा, तो नही,
शिकवा नही, शिकवा नही, शिकवा नही
तेरे बिना ज़िंदगी भी लेकिन, ज़िंदगी तो ,नही,
ज़िंदगी नही, ज़िंदगी नही, ज़िंदगी नही
तेरे बिना ज़िंदगी से कोई, शिकवा, तो नही
       
1-जी में आता है, तेरे दामन में, सर झुका के हम रोते रहे, रोते रहे - 2
तेरी भी आँखो में, आँसुओ की नामी तो नही

तेरे बिना ज़िंदगी से कोई, शिकवा, तो नही,
----
2-तुम जो कह दो तो आज की रात, चाँद डूबेगा नही, रात को रोक लो -2
रात की बात है, और ज़िंदगी बाकी तो नही

तेरे बिना ज़िंदगी से कोई, शिकवा, तो नही,
------------------