Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Mar 26, 2013

बड़ा नटखट है रे ....


फिल्म: अमर प्रेम
गायक: लता मंगेशकर
गीत: आनंद बक्षी
संगीत: आर. डी. बर्मन

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे

1-ढूँढे  री अंखिया उसे चारो और, जाने कहा छुप गया नंदकिशोर
उड़ गया ऐसे जैसे पुरवय्या, का करे यशोदा मैय्या
बड़ा नटखट है रे ....
2- आ तोहे मैं गले से लगा लूँ
लागे  ना किसी की नजर मन में छुपा लूँ
धूप जगत है ,रे ममता है छैंया, का करे यशोदा मैय्या
....
३- मेरे जीवन का तो  एक ही सपना
जो कोई देखे तोहे समझे वो अपना
सब का है प्यारा, हो सब का है प्यारा बंसी बज्जया
का करे यशोदा मैय्या, हा बड़ा नटखट है रे ....


Cover by Alpana

Play or download Mp3

No comments: