Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Aug 11, 2013

ना तुम बेवफा हो, ना हम ...



 न तुम बेवफा हो,न हम बेवफा हैं
फिल्म--एक कली मुस्काई
 संगीत --मदन मोहन
 गीतकार  --राजेंद्र कृष्ण
मूल गायिका -लता मंगेशकर
प्रस्तुत गीत में स्वर -अल्पना

गीत के बोल --
ना तुम बेवफा हो, ना हम बेवफा हैं
मगर क्या करें, अपनी राहें जुदा हैं

1-जहाँ ठण्डी-ठण्डी हवा चल रही है
किसी की मोहब्बत वहां जल रही है
ज़मीं आसमां हमसे दोनों खफा हैं
---
2-अभी कल तलक तो मोहब्बत जवां थी
मिलन ही मिलन था, जुदाई कहाँ थी
मगर आज दोनों ही बे-आसरा हैं
---
3-ज़माना कहे मेरी राहों में आ जा
मोहब्बत कहे मेरी बाहों में आ जा
वो समझे ना मजबूरियाँ अपनी क्या हैं.
ना तुम----

 .....कवर संस्करण
 

Download Or preview Mp3 Here