Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Feb 9, 2017

बहुत शुक्रिया बड़ी मेहरबानी --फिल्म -एक मुसाफिर एक हसीना [१९६२]



फिल्म-एक मुसाफिर एक हसीना [१९६२]
संगीतकार -
मूल गायक -रफ़ी और आशा भोसले
----------------------------------------------
Cover Version Sung by Safeer & Alpana
===========================


===========================

--------------------------------
Download Mp3 or Play Here

बहुत शुक्रिया बड़ी मेहरबानी [गीत के बोल]
----------------------------------------------
बहुत शुक्रिया बड़ी मेहेरबानी,
मेरी ज़िन्दगी मे हुजुर आप आये,
कदम चूम लूँ या आँखें बिछाऊं
करूँ  क्या यह मेरी,समझ मे ना आये,

बहुत शुक्रिया...

करूँ पेश तुम को, नज़राना दिल का,
नज़राना दिल का..
के बन जाए कोई.. अफसाना दिल का,
खुदा जाने ऐसी सुहानी घडी फिर,
खुदा जाने ऐसी सुहानी घडी फिर,
मेरी ज़िन्दगी मे पलट के ना आये,
बहुत शुक्रिया...

मुझेडर  है मुझ मे, गुरुर आना जाए,
लगूं झूमने मे, सुरूर आना जाए,

कहीं दिल ना मेरा, ये  तारीफ़ सुन कर..
तुम्हारा बने और मुझे भूल जाए,
बहुत शुक्रिया..

ख़ुशी तो बहुत है मगर यह भी गम है
मगर यह भी गम है
के यह साथ अपना कदम दो कदम है
मगर यह मुसाफिर दुआ माँगता है ..
खुदा आपसे फिर किसी दिन मिलाये

बहुत शुक्रिया बड़ी महरबानी,
मेरी ज़िन्दगी मे हुजुर आप आये,
कदम चूम लूँ या आँखें बिछाऊं
करूँ  क्या यह मेरी,समझ मे ना आये,
बहुत शुक्रिया
===============================
२०१२  में रिकार्डेड - सफीर अहमद जी के साथ गाया यह मेरा पहला दोगाना था]
-----------------------------------------------------
===============================

No comments: