Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Jan 10, 2017

ऐ दिल है मुश्किल ...

फिल्म-सी.आई.डी. (1956)
संगीतकार : ओ.पी.नैय्यर
गीतकार : मजरूह सुल्तानपुरी
मूल गायक : मो.रफ़ी & गीता दत्त
कवर संस्करण -सफ़ीर  और अल्पना

Download or Play here MP3

=============


 ============
गीत के बोल
-----------------
ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ
ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ-2


1.कहीं बिल्डिंग, कहीं ट्रामे, कहीं मोटर, कहीं मिल
मिलता है यहाँ सब कुछ, इक मिलता नहीं दिल
कहीं बिल्डिंग, कहीं ट्रामे, कहीं मोटर, कहीं मिल
मिलता है यहाँ सब कुछ, इक मिलता नहीं दिल
इन्साँ का नहीं कहीं नाम-ओ-निशाँ
ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ
ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ,ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ

2.कहीं सट्टा, कहीं पत्ता, कहीं चोरी, कहीं रेस
कहीं डाका, कहीं फाँका, कहीं ठोकर, कहीं ठेस
कहीं सट्टा, कहीं पत्ता, कहीं चोरी, कहीं रेस
कहीं डाका, कहीं फाँका, कहीं ठोकर, कहीं ठेस
बेकारों के हैं कई काम यहाँ
ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ

ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ,ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ

3.बेघर को आवारा यहाँ कहते हँस-हँस
खुद काटे गले सबके, कहे इसको बिज़नस
बेघर को आवारा यहाँ कहते हँस-हँस
खुद काटे गले सबके, कहे इसको बिज़नस
इक चीज़ के है कई नाम यहाँ

ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ,ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ

4.बुरा दुनिया को है कहता, ऐसा भोला तो ना बन
जो है करता, वो है भरता, है यहाँ का ये चलन
दादागिरी नहीं चलने की यहाँ
ये है बॉम्बे…
ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ
ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ,ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ

ऐ दिल है आसाँ जीना यहाँ
सुनो मिस्टर, सुनो बन्धु
ये है बॉम्बे मेरी जाँ
ऐ दिल है मुश्किल जीना यहाँ,ज़रा हट के, ज़रा बच के
ये है बॉम्बे मेरी जाँ
=============================
=======================

1 comment:

Safeer Ahmad said...

Very nice singing Alpana ji .. Thanks for this collaboration .. as this was my long due wishlist song :)