Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Mar 15, 2017

एक डाल पे तोता बोले -फिल्म: चोर मचाए शोर-[1974]

फ़िल्म:
गायक: मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर
संगीतकार: रवींद्र जैन
गीतकार:इंद्रजीत सिंह तुलसी
अदाकार:शशि कपूर और मुमताज़
=======================

 =============================
MP3 Download or Play
=============================
Cover singers- Safeer and Alpana
----------------------------------------------------

-----------------------------
एक डाल पर तोता बोले
एक डाल पर तोता बोले
एक डाल पर मैना
दूर दूर बैठे है लेकिन
प्यार तो फिर भी है न
बोलो है न, है न है न
ओ एक डाल पर तोता बोले,
एक डाल पर मैना
मैं तेरे नैनो की निंदिया,
तू मेरे दिल का चैना
बोलो है न, है न है न
एक डाल पर तोता बोले

ये क्या मुझको हो गया साजन
कभी रोऊँ कभी गाउँ
पेड़ से लिपटी बेल जो देखूं
लाज से मर मर जाऊँ
ये पागलपन कैसा
कब से हो गया ऐसा
बिन बतलाये समझो साजन
आज नहीं कुछ कहना
बोलो है न, है न है न
है न
एक डाल पर तोता बोले

आँधी आये तूफ़ान आये
या बरसे, बरसाते
एक दूजे में खो जाये हम
खत्म न हो दिन राते
खत्म न हो दिन राते
मीठी प्यार की बातें
होंठ अगर खामोश रहें तो
बोल उठेंगे नैना
बोलो है न, है न है न
है न
एक डाल पर तोता बोले

जनम जनम रे साजन,
पल में बुझेगी कैसे
जीवन भर ये संग न छूटे,
अंग लगा तो ऐसे
आ मिल जाएँ ऐसे,
सागर नदिया जैसे
सिख लिया है प्यार में हमने,
मिटाकर ज़िंदा रहना
बोलो है न, है न है न

एक डाल पर तोता बोले,
एक डाल पर मैना
दूर दूर बैठे है लेकिन,
प्यार तो फिर भी है न
बोलो है न, है न है न

==============================
.

No comments: