Featured Post

एक लड़की भीगी भागी सी ...स्वर -अल्पना

गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी

Nov 12, 2009

14-तेरा मेरा प्यार अमर

Film --Asli Naqli [१९६२]
Music: शंकर-जयकिशन
Lyrics: हसरत जयपुरी
Original Singer : Lata
Starring: Sadhana, Dev Anand

तेरा मेरा प्यार अमर, फिर क्यों मुझको लगता है डर
मेरे जीवन साथी बता, दिल क्यों धड़के रह-रह कर

१-क्या कहा है चाँद ने, जिसको सुनके चाँदनी
हर लहर पे झूमके, क्यों ये नाचने लगी
चाहत का है हरसू असर, फिर क्यों मुझको लगता है डर

२-कह रहा है मेरा दिल, अब ये रात न ढले
खुशियों का ये सिलसिला, ऐसे ही चला रहे
तुझको देखूँ देखूँ जिधर, फिर क्यों मुझको लगता है डर

३-है शबाब पर उमंग, हर खुशी जवान है
मेरी दोनों बाहों में, जैसे आस्मान है
चलती हूँ मैं तारों पर, फिर क्यों मुझको लगता है डर
.............................................
Song suggested by Mr.Ashutosh Singh
Download or Play mp3

5 comments:

सैयद | Syed said...

बहुत ही बेहतरीन गीत को आपने बहुत ही खूबसूरती से गाया है...

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बेहद कर्णप्रिय गीत....
एक गीत की फरमाईश है :- "इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास" । जिसे आपकी आवाज में सुनना अच्छा लगेगा ।

अल्पना वर्मा said...

@Adarniy Pandit Sharma ji,
आप की टिप्पणी मिली.
और बहुत अच्छा लगा कि आप ने bhakti गीत सुझाया hai.
यह गीत September mein record kiya tha aur ab-इस ब्लॉग पर भी लगाया हुआ है.
यह नया ब्लॉग है जिस में अब तक के गाये गीत जो इधर उधर थे.उन सब को एक जगह रख रही हूँ.
'इतनी शक्ति हमें देना दाता'और ' तोरा मन दर्पण कहलाये' ये दोनों भक्ति गीत mai ne अपने इसी ब्लॉग पर भी लगाये हैं.
अवश्य देखीयेगा और अपनी राय भी दिजीयेगा-
१-इतनी शक्ति हमें देना--:
http://merekuchhgeet.blogspot.com/2009/10/blog-post_9783.html
२-तोरा मन दर्पण-:
http://merekuchhgeet.blogspot.com/2009/11/blog-post_2968.html

Abhaar,

Jeevan said...

Dear Alpana,bahut achhha gaya hai, actully aapki awaaz ka structure hi itna sweet, innocent type ka hai, ki sur or feeling ke khayal.....par na dhyan dete huye banda sunta hi chala jata hai.

-Jeevan

Ashok said...

1962 Ranchi St xavirs mein ke jaadoo bhare din ... un swarnim dino ka prateek yeh geet... ek aur geet yaad aata hai... Haa e re woh din kyon na aaei...

Shukriya