Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Jul 11, 2012

कैसे- कैसे लोग हमारे -Cover by Dilip ji


Tribute to Legendary Ghazal Singer Mehdi Hassan By Dilip Kawthekar ji.
 Poet - Munir Niyazi
 [ Cover version Recorded at home.]

 Kaise kaise log hamare ji ko jalane aa jate hain
 Apne apne gam ke fasane hame sunane aa jate hain.

 कैसे -कैसे लोग हमारे जी को जलाने आ जाते हैं ,
 अपने ग़म के फ़साने हमें सुनाने आ जाते हैं .


MP3 Download


3 comments:

अल्पना वर्मा said...

Expressive and melodious tribute..
Excellent rendition of this ghazal.

प्रवीण पाण्डेय said...

वाह..

दिलीप कवठेकर said...

Shukriya.