Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Apr 5, 2016

माये नी माये ...

माये नी माये ...

फिल्म-हम आपके हैं कौन
गीतकार-देव कोहली
संगीत-राम लक्ष्मण
मूल गायिका -लता  मंगेशकर जी
कवर संस्करण -अल्पना वर्मा

गीत के बोल 

माये नी माये मुंडेर पे तेरी, बोल रहा है कागा

जोगन हो गयी तेरी दुलारी, मन जोगी संग लागा I

१.चाँद की तरह चमक रही थी, उस जोगी की काया

मेरे द्वारे आकर उसने प्यार का अलख जगाया

अपने तन पे भस्म रमा के, सारी रैन वो जागा

जोगन हो गयी तेरी दुलारी मन जोगी संग लागा I

2.मन्नत मांगी थी तूने , इक रोज मैं जाऊँ बियाही

उस जोगी के संग मेरी तू कर दे अब कुड़माई

इन हाथों में लगा दे मेहँदी, बाँध  शगुन का धागा

जोगन हो गयी तेरी दुलारी ,मन जोगी संग लागा I
========================
डाउनलोड या प्ले करें 

=========

4 comments:

Dilbag Virk said...

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 07-03-2016 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2305 में दिया जाएगा
धन्यवाद

रश्मि शर्मा said...

पसंद है ये गाना...अच्‍छा लगा

Alpana Verma अल्पना वर्मा said...

Bahut -bahut dhnywad!

हिमकर श्याम said...

बहुत ख़ूब। सुंदर गीत। उम्दा गायन।