Featured Post

एक लड़की भीगी भागी सी ...स्वर -अल्पना

गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी

Apr 17, 2015

यारा सीली सीली--कवर गीत - स्वर -अल्पना वर्मा

गीत-यारा सीली सीली
मूल गायिका -लता मंगेशकर
गीतकार-गुलज़ार
संगीतकार -हृदयनाथ मंगेशकर

यहाँ प्रस्तुत गीत मेरी एक कोशिश है ,आशा है आप को पसंद आएगी.

गीत
यारा सीली-सीली बिरहा की रात का जलना
ये भी कोई जीना है, ये भी कोई मरना यारा सीली सीली

1-टूटी हुई चूड़ियों से जोडूं ये कलाई मैं
पिछली गली में जाने क्या छोड़ आई मैं
बीती हुई गलियों से फिर से गुजरना यारा सीली सीली

2-पैरों में न साया कोई सर पे न साईं रे
मेरे साथ जाए ना मेरी परछाईं रे
बाहर उजाला है अंदर वीराना यारा सीली सीली

यारा सीली-सीली बिरहा की रात का जलना.
=======================
==========
==========
=============
====================================
================================

5 comments:

निर्मला कपिला said...

badiyaa prastuti. sureeli aavaaj.

Shashi said...

Very nice !!

KAHKASHAN KHAN said...

यह गीत मुझे बहुत पसंद है। शानदार रचना।

Satish Saxena said...

बेहद पसब्द है यह गीत ! मंगलकामनाएं आपको

हिमकर श्याम said...

वाह, बहुत ख़ूब! इस बेहतरीन गीत को बहुत ही सुंदर गाया है आपने।देर से पहुँचने के लिए क्षमा चाहता हूँ।