Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Dec 20, 2012

तेरी है ज़मीन, तेरा आसमान


Movie: The Burning Train
Music: R D Burman
Lyricist: Sahir Ludhianvi
---------
तेरी है ज़मीन, तेरा आसमान, तू बड़ा मेहरबान, तू बक्शीश  कर.
सभी का है तू, सभी तेरे, खूदा  मेरे तू बक्शीश  कर..

तू चाहे तो हमें रखे, तू चाहे तो हमें मारे.
तेरे आगे झुकाके सर, खड़े हैं आज हम सारे.

ओ सब से बड़ी ताक़त वाले, तू चाहे तो हर आफत टाले .
तेरी मर्ज़ी से ऐ मालिक, हम इस दुनिया में आये हैं.
तेरी रहमत से हम सब ने, ये जिस्म और जान पाए हैं.

तू अपनी नज़र हम पर रखना, किस हाल में हैं खबर रखना..

तेरी है ज़मीन, तेरा आसमान, तू बड़ा मेहरबान, तू बक्शीश  कर.
सभी का है तू, सभी तेरे, खुदा मेरे तू बक्शीश  कर..



तेरी है ज़मीन, तेरा आसमान, तू बड़ा मेहरबान, तू बक्शीश  कर.
सभी का है तू, सभी तेरे, खुदा मेरे तू बक्शीश कर..
तेरी है ज़मीन,

प्रस्तुत है यह गीत -A Prayer -Vocals--Shahzad and Alpana .
 Music arranged by Mr.Shahzad.
To Download click here

No comments: