Featured Post

एक लड़की भीगी भागी सी ...स्वर -अल्पना

गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी

Aug 8, 2011

घर आया मेरा परदेसी



घर आया मेरा परदेसी

ऐसे ही एक बार हाल ही में जब हम सहेलियाँ एक साथ बैठी थीं तब गानों की बात चली जिनमें कुछ गाने ऐसे याद आये,
जो बचपन में हम शादियों में लेडीज़ संगीत में खूब सुना करते थे.ढोलक और चम्मच का साथ और ये गाने..उन गानों में एक यह गीत भी हुआ करता था ..घर आया मेरा परदेसी ...सोचा उन्हों गीतों की कड़ी बनायी जाये..भूले -बिसरे गीत जो आज भी बड़े मधुर लगते हैं .
फिल्म आवारा [1951]का यह गीत नरगीस जी पर फिल्माया गया था ,कहते हैं हिंदी सिनेमा का यह पहला स्वप्न गीत था .
बड़ा ही छोटा सा गीत है.प्रस्तुत ट्रेक में ढोलक और रबाब का संगीत है .सुनिये यह प्रयोग -अपनी ही आवाज़ का कोरस भी बनाया है.
Download Mp3 or Play here

5 comments:

संजय भास्कर said...

BAHUT HI SUNDER GEET BAHUT BAAR SUNA HAI PAR MAN HI NAHI BHARTA

प्रवीण पाण्डेय said...

अहा।

S.M.HABIB said...

सचमुच, यह हिंदी फिल्मों का पहला "ड्रीम सिक्वेंस" था... आपको सुनकर पूरा पिक्चराईजेसन आँखों में आगया.... बहुत ही सुन्दर बन पडा है यह गीत...
सादर बधाई...

ताऊ रामपुरिया said...

गीत तो अपने आप में सुंदर और मधुर है ही, पर स्व-कोरस के साथ ये और भी मधुर होगया, बहुत शुभकामनाएं.

रामराम.

ज्योति सिंह said...

is geet se kuchh yade bhi judi hai banasthali ki ,sundar madhur