Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Mar 8, 2014

जिस गली में तेरा घर ...फिल्म -कटी पतंग


गीत-जिस गली में तेरा घर ..
गीतकार-आनंद  बक्षी
संगीतकार -राहुल देव बर्मन
मूल स्वर-मुकेश
कवर गीत स्वर-अल्पना

गायक मुकेश के गीतों में यह गीत मुझे पसंद है इसीलिये मेरी इच्छा हुई कि इसे अपने स्वर में गा कर देखूँ... सर्दी का असर अभी तक गया नहीं है आवाज़ में जिसका असर सुनायी देगा.

Play or download MP 3 Here


===================
=====================
===========================

4 comments:

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत ही सुंदर बन पडा है यह गीत, हार्दिक शुभकामनाएं.

रामराम.

Alpana Verma said...

Thanks Sir.

SANTOSH said...

ये मेरे पसन्दीदा गीतों में से एक है, आपने बहुत सुन्दर गाया है!!

हिमकर श्याम said...

मुकेश के गीत दिल छू लेते थे. उनके इस गीत को आपने बड़े ही सुरीले अंदाज में पेश किया है . आवाज में सर्दी का असर तो है लेकिन सुनने में अच्छा लगता है.