Featured Post

28-चिठ्ठी ना कोई संदेस़

गीतकार :आनंद बक्षी संगीतकार :उत्तम सिंह चित्रपट :दुश्मन - 1998 Original Singer-Lata Presenting cover version -vocals-Alpana प्रस्त...

Mar 10, 2014

हम थे जिनके सहारे ....


फिल्म-सफ़र
संगीत-कल्यानजी आनंद जी
गीतकार-इन्दीवर
मूल गायिका-लता

प्रस्तुत गीत में स्वर  --अल्पना

गीत के बोल-

हम थे जिनके सहारे, वो हुए ना हमारे
डूबी जब दिल की नय्या, सामने थे किनारे
हम थे जिनके सहारे ...

१-क्या मुहब्बत के वादे, क्या वफ़ा के इरादे
रेत की हैं दीवारें, जो भी चाहे गिरा दे
जो भी चाहे गिरा दे....हम थे जिनके सहारे ...

२-है सभी कुछ जहाँ में, दोस्ती है वफ़ा है
अपनी ये कमनसीबी, हमको ना कुछ भी मिला है
हमको ना कुछ भी मिला है
हम थे जिनके सहारे ...

३-यूँ तो दुनिया बसेगी, तनहाई फिर भी डसेगी
जो ज़िंदगी में कमी थी, वो कमी तो रहेगी
वो कमी तो रहेगी,हम थे जिनके सहारे ...
MP3 Download or Play

=============================
======================
===================

6 comments:

Ramakant Singh said...

गानों का आज तक का चयन और सुन्दर अदायगी बहुत सुन्दर लाजवाब माँ सरस्वती कि कृपा रहे आप सदा यूँ ही गुनगुनाती रहें

Alpana Verma said...

@Thanks Ramakant ji.

हिमकर श्याम said...

इस विरह गीत को बड़ी खूबसूरती से गाया है आपने... अपने स्वर में दर्द को बखूबी उभारा है...

Alpana Verma said...

@Thanks Himkar ji.

SANTOSH said...

bahut feeling ke sath gaya hai!!!

Alpana Verma said...

Thanks Santosh