Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Nov 11, 2012

दिए जलाएँ प्यार के..


'दिए जलाएँ प्यार के  चलो इसी खुशी में ,
बरस बिता के आई है ये शाम ज़िंदगी में '
दीपावली की शुभकामनाओं के साथ एक गीत ..फिल्म धरती कहे पुकार के..
मूल गायिका -लता जी.
संगीत-लक्ष्मी कान्त प्यारेलाल.
गीत-मजरूह सुल्तानपुरी
Presenting cover song
Download Mp3 here

No comments: