Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Jan 24, 2012

बहुत हमने रोका [नज़्म]



बहुत हमने रोका [नज़्म ]
यह किस की लिखी हुई है मालूम नहीं...कभी प्रकाश गोविंद जी की आवाज़ में सुनी थी ....अच्छी लगी तो यहाँ अपने स्वर में सुना रही हूँ।
केवल स्वर
Mp3 play here

No comments: