Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

Apr 30, 2011

५९-तेरे ख्याल को दिल से ....

Nahid Akhtar








 एक ग़ज़ल बिना संगीत के प्रस्तुत कर रही हूँ .
जिसे  गायिका  नाहिद अख्तर ने एक फिल्म के लिए गाया था .
बोल बहुत प्यारे हैं लेकिन इस गज़ल के शायर का नाम अभी तक मालूम नहीं हुआ है.
तेरे ख्याल को दिल से कभी जुदा न करूँ ,
तेरे बगैर  तो मैं सांस भी  लिया न करूँ...
बाकि..आप सुनीये ...


स्वर -अल्पना वर्मा
Mp3 download  here

Song suggested  by Mr.Prakash Govind.

3 comments:

Er. सत्यम शिवम said...

क्या खुब गाया है अल्पना जी आपने..बहुत ही गहरे एहसासों के संग..बहुत सुंदर कोमल आवाज।

प्रवीण पाण्डेय said...

बेहतरीन गायन।

ज्योति सिंह said...

waah bahut khoob .sach kaha bol bahut achchhe hai