Featured Post

खूब लड़ी मर्दानी ....झाँसी की रानी कविता -

झाँसी  की रानी -कविता पाठ =================== -[सुभद्रा कुमारी चौहान जी की लिखी ] Kavita Paath: Alpana Verma सिंहासन हिल उठे...

May 2, 2014

नैना हैं प्यासे ..फिल्म अविष्कार

नैना हैं ....


गीतकार- कपिल कुमार
संगीत-कनु  रॉय
मूल स्वर-आशा भोसले
कवर [बिना संगीत ]--अल्पना

नैना हैं प्यासे मेरे, प्यासा है प्राण मेरा
मैं हूँ एक बरखा के बिन जलता सा दिन
आशियां है सुनसान मेरा ...

मन की है लगन तन से, तन का है तीरथ दूजा
प्यासी रही मिलके उनसे, प्यास को ही मैने पूजा
ये ही तो है अभिमान मेरा ...

प्यार पूजा प्रार्थना तो एक साथ रहना चाहे
साथ अगर साथ ना दे, संग आ जाती आहें
अब यही है सोपान  मेरा ...

बहुत ही खूबसूरत फिल्म 'अविष्कार 'और उसका यह खूबसूरत गीत बिना संगीत  प्रस्तुत है-

Mp3 Download or preview here

5 comments:

P.N. Subramanian said...

गाजे बाजे का ना होना नहीं ख़ला

हिमकर श्याम said...

बिना संगीत के इस गीत को सुनकर मन को बड़ा सुकून मिला. गाने के बोल लाजवाब हैं. आपकी आवाज़ में सुनना यकीनन बहुत अच्छा लगा. लीक से हटकर थी ‘आविष्कार’. जगजीत जी ने बॉलीवुड में अपना पहला गाना शायद इसी फिल्म में गाया था.

Alpana Verma said...

@Thank you all for the supportive comments.

@Himkar ji Aap ne sahi kahaa Jagjeet Singh ji ka First film song 'Babul mora'isee film mei tha.

काजल कुमार Kajal Kumar said...

आपकी आवाज़ में कुछ तो बात है .... :)

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...



☆★☆★☆



नैना हैं प्यासे मेरे, प्यासा है प्राण मेरा
मैं हूं एक बरखा के बिन जलता सा दिन
आशियां है सुनसान मेरा ...

वाह ! वाऽह…! वाऽऽह…!

आदरणीया अल्पना जी
बहुत मुश्किल था इस गीत को गाना
आपने कमाल किया है बिना संगीत के गा'कर...
मन को आनंद मिला
आभार ! साधुवाद !

मंगलकामनाओं सहित...
-राजेन्द्र स्वर्णकार